February 28, 2021

मेरा एक सपना है….

मेरा एक सपना है…. मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

जैसे वो सबकी पसंद-नापसंद का..
ध्यान रख लेते हैं |
वैसे ही मैं अपनी इच्छा दबाकर…
सबका मन पढ़ पाऊँ ||
मेरा एक सपना है…. मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

जैसे उनकी प्यार भरी थपकी से…
मैं बचपन में सो जाती थी |
उसी थपकी की आहट…
मैं अपनी लोरी मैं लाऊँ ||
मेरा एक सपना है… मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

जैसे ईश्वर की भांति…
वो सारे दुःख हर लेते हैं |
वैसे ही मैं भी….
हर चोट की दवा बन जाऊँ ||
मेरा एक सपना है…. मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

जैसे वो थक कर भी….
थकान का जिक्र नहीं करते हैं |
वैसे ही सब कष्टों को भुलाकर…
मैं भी आगे बढ़ती जाऊँ ||
मेरा एक सपना है… मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

जैसे पाई-पाई जोड़कर…
उन्होंने हमें बड़ा किया।
वैसे ही शौक और जरूरतों मे…
मैं फर्क समझ पाऊँ।।
मेरा एक सपना है…. मैं अपने पापा जैसी बन जाऊँ

3 thoughts on “मेरा एक सपना है….

Leave a Reply

%d bloggers like this: